Contact Us

info@jamiat.org.in

Phone: +91-11 23311455, 23317729, Fax: +91 11 23316173

Address: Jamiat Ulama-i-Hind

No. 1, Bahadur Shah Zafar Marg, New Delhi – 110002 INDIA

Donate Us

JAMIAT ULAMA-I-HIND

A/C No. 430010100148641

Axis Bank Ltd.,  C.R. Park Branch

IFS Code - UTIB0000430

JAMIAT RELIEF FUND

A/C No. 915010008734095

Axis Bank Ltd.  C.R. Park Branch

IFS Code-UTIB0000430

जमीअत उलमा ए हिन्द ने अमरनाथ यात्रियों पर हमले की कड़ी निंदा करते हुए इसे बर्बर और क्रूर अमल क़रार दिया

नई दिल्ली: 11 / जुलाई


जमीअत उलेमा ए हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने कश्मीर के अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों पर हमले की कड़ी निंदा करते हुए इसे बर्बर और क्रूर अमल क़रार दिया है। हमें ये जान कर दुःख हुआ के मरने वालों में ज़यादातर औरतें हैं। मौलाना मदनी ने कहा कि आतंकवाद मानवता के खिलाफ आपराधिक प्रक्रिया है, जिस का किसी धर्म और आस्था से कोई संबंध नहीं है . उन्हों ने इस्लामी शिक्षाओं का हवाला देते हुए कहा कि इस्लाम में युद्ध की स्थिति में भी इबादत गुज़ारों और महिलाओं पर हमले की अनुमति नहीं है। मौलाना मदनी ने कहा कि जमीअत उलेमा ए हिंद आतंक के खिलाफ पिछले दो दशकों से आंदोलन चला रही है, उसने हमेशा इस बात पर जोर दिया है कि आतंकवाद के खिलाफ धर्म से ऊपर उठ कर संयुक्त संघर्ष किया जाना ज़रूरी है।


मौलाना मदनी ने विश्वास व्यक्त किया कि इस हमले से विभाजित करने वालों का का लक्ष्य हरगिज़ पूरे नहीं होगा, क्योंकि देश के सभी वर्गों विशेषकर हिंदू, मुसलमान और कश्मीरी जनता ऐसे कायर हमले के खिलाफ एकजुट हैं उन्हों ने ने इतिहास की बात करते हुए कहा कि अमरनाथ गुफा का खुलासा 1850 में एक कश्मीरी मुसलमान बूटा मलिक ने किया था,जिस का परिवार आज भी रखरखाव की जिम्मेदारी निभाता है।


मौलाना मदनी ने सरकार से मांग की कि वास्तविक दोषियों की पहचान करके उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई हो। तक़सीम करने वाली शक्तियां धार्मिक त्योहारों के अवसर पर मासूमों पर हमला करके गलत फायदा उठाती हैं, इसलिए ऐसे मौकों पर चाक चौबंद सुरक्षा की उचित व्यवस्था होना अनिवार्य है। मौलाना मदनी ने मृतकों के परिजनों से संवेदना व्यक्त किया है, साथ ही जो लोग घायल हुए हैं उनकी सेहत के लिए दुआ की है।